स्वागत

Monday, January 31, 2011

जेएनयू में दो दिवसीय यूथ फिल्म फेस्टिवल कल से

फिल्म निर्माण, उसकी कहानी व तकनीकी पहलुओं से जुड़ी बारीकियों से युवाओं को रू-ब-रू कराने के लिए जेएनयू में एक बार फिर से यूथ फिल्म फेस्टिवल का आयोजन होने जा रहा है।

एक फरवरी से शुरू होने वाले इस दो दिवसीय इंटरनेशनल यूथ फिल्म फेस्टिवल को जेएनयू के फैकल्टी क्लब और फॉक, आर्ट, कल्चरल एंड एजुकेशनल सोसाएटी (फेसेज) मिलकर आयोजित कर रहे है, जिसमें दो दर्जन से ज्यादा शॉर्ट व डॉक्युमेंट्री फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा।

आयोजन से जुडे डॉ. डीके लोबियाल ने बताया कि द्वितीय इंडिया इंटरनेशनल यूथ फिल्म फेस्टिवल (आईआईवाईएफएफ) के जरिये युवाओं को फिल्म निर्माण की बारीकियों से रूबरू कराया जाएगा।


उन्होंने बताया कि इस आयोजन के दौरान न सिर्फ जेएनयू समुदाय बल्कि बाहरी लोगों को भी इस फेस्टिवल में शामिल होने का अवसर दिया जा रहा है। फेस्टिवल का शुभारंभ एक फरवरी को जेएनयू के एसएसएस-1 ऑडिटोरियम में किया जाएगा।

फेस्टिवल डायरेक्टर मुस्तजाक मलिक ने बताया कि इस मौके पर करीब दो दर्जन फिल्मों की स्क्रीनिंग की जाएगी। इनमें माइंड, अफगान गल्र्स कैन किक, व्हीजलिंग अंडर वॉटर, ब्लैकवुड, डिवाइन, डबल डेट, बैक टू रूट्स, द वॉच क्लीनिक, देवदासी, कल, डिप्लोमा, विदा आदि फिल्में शामिल होंगी।

इन फिल्मों का प्रदर्शन दोपहर तीन बजे से शाम सात बजे तक किया जाएगा। जहां पहले दिन फेस्टिवल में फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा, वहीं दूसरे दिन जेएनयू कैंपस के स्कूल ऑफ आर्ट एंड एस्थेटिक्स ऑडिटोरियम में शॉर्ट फिल्मों और डॉक्युमेंट्री फिल्मों का प्रदर्शन किया जाएगा(दैनिक भास्कर,दिल्ली,31.1.11)।

4 comments:

न मॉडरेशन की आशंका, न ब्लॉग स्वामी की स्वीकृति का इंतज़ार। लिखिए और तुरंत छपा देखिएः