स्वागत

Saturday, June 11, 2011

गूगल से भी तेज सर्च करें एमपी 3 गाने

मनपसंद गाने सुनने के लिए गूगल पर दिखाई देने वाली हजारों वेबसाइट्स में से सिलेक्शन मुश्किल होता है। एनआईटी के विद्यार्थियों ने ऐसा सर्च इंजन बनाया है जहां दुनियाभर की वेबसाइट के गाने एक ही जगह सुने जा सकेंगे।

गूगल पर आने वाली ज्यादातर वेबसाइट पर गाने की जगह विज्ञापन होते हैं। कई वेबसाइट गाना सुनाने के पैसे लेती हैं। नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (एनआईटी) सूरत के विद्यार्थियों ने इंदौर एजुकेशन सेंटर सीडेक के प्रोजेक्ट के तहत यह सर्च इंजन बनाया है। इसमें मीडिया प्लेयर भी जोड़ा है। वेबसाइट को रिफ्रेश करने पर बिना रुकावट गाने सुने जा सकते हैं।

स्टूडेंट्स बताते हैं सर्च इंजन पर ऐसी साइट आएंगी ही नहीं, जिन पर गानों के केवल नाम दिए गए हैं। वे बताते हैं एनआईटी सूरत ने इंदौर में ट्रेनिंग के लिए भेजा है। छह महीने की मेहनत से सर्च इंजन बनाया है। प्रोजेक्ट आईआईटी पवई में रिसर्च पेपर के रूप में भेजा है। फैकल्टी एडवाइजर मनीष अरोरा ने बताया इंदौर से शुरू हुआ यह एकमात्र सर्च इंजन होगा जो एमपी3 गाने सर्च करने में गूगल से फास्ट है।

कम्प्यूटर साइंस के विद्यार्थी अली अब्बास मैनेजर, नील जिनवाला और पूरव मास्टर ने www.beta.mgoos.com सर्च इंजन बनाया है। इसमें जावा प्रोग्रामिंग के जरिये ऐसा ऑटोमेटिक सिस्टम बनाया गया है जो दुनियाभर के एमपी3 गानों को एक वेबसाइट से जोड़ता है। वायरस वाली या बिना काम की साइट्स इग्नोर कर दी जाएंगी(दैनिक भास्कर,इन्दौर,11.6.11)।

8 comments:

न मॉडरेशन की आशंका, न ब्लॉग स्वामी की स्वीकृति का इंतज़ार। लिखिए और तुरंत छपा देखिएः