स्वागत

Saturday, September 25, 2010

हॉलीवुड कलाकारों में बॉलीवुड के लिए आकर्षण

हॉलीवड कलाकारों का बॉलीवुड के प्रति आकर्षण बढ़ गया है। सिल्वेस्टर स्टेलॉन, काइली मिनॉग, ब्रैंडन रूथ, बेन किंग्सले और अब ड्रयू बैरीमोर जैसे पश्चिम के सुपरस्टार हिंदी फिल्मों में रूचि दिखा रहे हैं। अब अभिनेत्री ड्रयू बैरीमोर "द लाइफस्टाइल" फिल्म में नजर आएंगी। यह फिल्म अपनी पहचान तलाशतीं तीन विभिन्न क्षेत्रों की महिलाओं पर आधारित है। फिल्म में बैरीमोर एक विदेशी महिला की भूमिका निभाएंगी। हॉलीवुड अभिनेता निकोलस केज के भी विधु विनोद चोप़डा की इंग्लिश फिल्म "ब्रोकन हॉर्सेज" में अभिनय करने की बात कही जा रही है। सितम्बर में इसकी शूटिंग शुरू होनी है। यह भी कहा जा रहा था कि चोप़डा ने एक सरगना की भूमिका के लिए हॉलीवुड के एक्शन अभिनेता मिकी राउरके से बात की थी। "ब्रोकन हॉर्सेज" कथित तौर पर चोप़डा की अनिल कपूर, माधुरी दीक्षित अभिनीत हिंदी फिल्म "परिंदा" से प्रेरित है। कोलंबियाई गायिका शकीरा भारतीय फिल्म "काली-द वारियर गॉडेज" में देवी काली की भूमिका निभाएंगी। भारत दुनिया में सबसे ज्यादा फिल्में बनाने वाले देशों में शामिल है और हर साल यहां 1,000 से ज्यादा फिल्में बनती हैं। निर्माता साजिद नाडियाडवाला की फिल्म "कम्बख्त इश्क" में स्टेलॉन, रूथ और डेनिस रिचड्र्स जैसे अंतर्राष्ट्रीय कलाकार थे। निर्देशक एंथनी डिसूजा की अक्षय कुमार अभिनीत "ब्लू" में गायिका काइली मिनॉग एक छोटी सी भूमिका में नजर आई थीं। अभिनेता बेन किंग्सले ने निर्देशिका लीना यादव की फिल्म "तीन पत्ती" में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। किंग्सले ने कहा था, ""भारतीय सिनेमा अलग तरह का होता है। आपके पास बॉलीवुड की लोकप्रिय फिल्में हैं जो विदेशों में रहने वाले भारतीयों को बहुत पसंद हैं। पश्चिमी दुनिया में यहां की फिल्मों को अलग तरह से देखा जाता है। पश्चिमी दर्शकों के बीच उनकी लोकप्रियता बहुत ज्यादा है।"" गायक एकन ने शाहरूख खान की विज्ञान-फंतासी फिल्म "रा.वन" में संगीत दिया है और उन्होंने इसे अपने सुरों से भी सजाया है(खासखबर डॉटकॉम,25.9.2010)।

2 comments:

  1. बहुत अच्छी प्रस्तुति। राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है।
    कहानी ऐसे बनी– 5, छोड़ झार मुझे डूबन दे !, राजभाषा हिन्दी पर करण समस्तीपुरी की प्रस्तुति, पधारें

    ReplyDelete
  2. मित्र हो सके तो बॉलीवुड का कोई नया नाम सोचो. अमिताभ बच्चन को भी ये पसंद नहीं है नाम। जहां तक किंग्सले साहब हैं तो वो तो अपने भारतीय ही हैं आधे।

    ReplyDelete

न मॉडरेशन की आशंका, न ब्लॉग स्वामी की स्वीकृति का इंतज़ार। लिखिए और तुरंत छपा देखिएः