स्वागत

Saturday, September 25, 2010

पीपली लाइव ऑस्कर के लिए भारत की आधिकारिक प्रविष्टि

कर्ज में डूबे किसानों की समस्याओं का चित्रण करने वाली आमिर खान की चर्चित फिल्म पीपली लाइव ऑस्कर पुरस्कार की होड़ में शामिल होगी। पीपली लाइव वर्ष 2011 के ऑस्कर पुरस्कारों में सर्वश्रेष्ठ विदेशी फिल्म की श्रेणी में भारत की आधिकारिक एंट्री होगी। यह तीसरा मौका है जब बतौर निर्माता आमिर खान की कोई फिल्म प्रतिष्ठित अकादमी पुरस्कारों में अपनी दावेदारी पेश करेगी। फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया (एफएफआई) के महासचिव सुपर्ण सेन ने शुक्रवार को यहां बताया कि ऑस्कर पुरस्कार की होड़ में पीपली लाइव को 27 फिल्मों के बीच से भारत की आधिकारिक एंट्री के लिए चुना गया। नवोदित निर्देशक अनुषा रिजवी द्वारा मध्य प्रदेश के एक छोटे से गांव में फिल्माई गई पीपली लाइव में रंगमंच के कलाकारों ने अपने उम्दा अभिनय से जान डाल दी है। फिल्म में ग्रामीण जीवन के ताने-बाने में देश की राजनीतिक व्यवस्था और मीडिया खासतौर पर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर भी निशाना साधा गया है। इससे पहले आमिर खान प्रोडक्शन की लगान (2001) और तारे जमीं पर (2007) भी अकादमी पुरस्कारों में अपनी दावेदारी पेश कर चुकी हैं। भारत में ब्रिटिश राज के दौर की कहानी पेश करने वाली आमिर अभिनीत लगान सर्वश्रेष्ठ विदेशी फिल्म की श्रेणी में अंतिम पांच में जगह बनाने में कामयाब रही थी लेकिन बोस्निया की नो मैन्स लैंड से उसे शिकस्त खानी पड़ी थी(दैनिक जागरण,राष्ट्रीय संस्करण,25.9.210)।

3 comments:

  1. चलो भारत के लिए कुछ तो अच्छी खबर आई ...

    यहाँ भी आये और अपनी बात कहे :-
    क्यों बाँट रहे है ये छोटे शब्द समाज को ...?

    ReplyDelete
  2. बहुत अच्छी प्रस्तुति। राजभाषा हिन्दी के प्रचार-प्रसार में आपका योगदान सराहनीय है।
    साहित्यकार-बाबा नागार्जुन, राजभाषा हिन्दी पर मनोज कुमार की प्रस्तुति, पधारें

    ReplyDelete

न मॉडरेशन की आशंका, न ब्लॉग स्वामी की स्वीकृति का इंतज़ार। लिखिए और तुरंत छपा देखिएः